What is Hosting in hindi

What is Hosting in hindi

किसी भी वेबसाइट को चलाने के लिए डोमेन और होस्तिन्न्ग आवश्यक होता है बिना डोमेन और होस्तिन्न्ग के आप अपने वेबसाइट को इन्टरनेट पर नही अपलोड कर सकते है और अगर आप अपने वेबसाइट को इन्न्तेर्नेट पर अपलोड नही करेगे तो वह लोगो के पास नही पहुच पायेगा अगर आप अपने वेबसाइट को लोगो तक पहुचना चाहते है जिससे की लोग आप्क्के वेबसाइट पर इन्टरनेट के माध्यम से आ सके तो आपको अपने वेबसाइट o इन्टरनेट पर live करा होगा और इसके लिए आपको दोंमिन और होस्टिंग की जरुरत होती है इस आर्टिकल में हम जानेगे की होस्टिंग क्या हिता है और इसके अगले आर्टिकल में हम जानेंगे की डोमेन क्या होता है

अगर होस्टिंग की बात करे तो होस्टिंग एक space होता है जहा आप अपने वेबसाइट का सारा डाटा उप्प्लोअद करते है ताकि लोग इन्टरनेट के माध्यम से आपके वेबसाइट को एक्सेस कर सके जैसे आप कही रूम रेंट पपर लेकर रहते है और बदले में माकल मालिक को रू का रेंट देते है ठीक उसी पर होस्टिंग एक सर्वर होता है जहा आपको एक space मिलता है वह अआप्को अपना वेबसाइट उप्प्लोअद करना होता है जिससे आपका वेबसाइट पुरे इन्टरनेट पर live हो जाता है ताकि अगर कोई व्यक्ति आपक वेबसाइट को एक्सेस करना चाहे तो वह इन्टरनेट के माध्यम से कर सके

होस्टिंग एक सर्वर होती है जिसे बहुत साड़ी कोम्पान्य प्रोइदे करती है आप अपने बुजुत के हिसाब से कपानी से होस्स्तिन्न्ग लेते है और बदले में वह होस्टिंग कंपनी आपसे monthly कच्छ चार्गे लेती है होस्टिंग सर्वर एक प्रकार का कंप्यूटर ही होता है आप चाहे तो घर पर ही अपने कंप्यूटर को ही होस्टिंग बना सकते है लेकिन उसको आपको 24 घंटे चालू रखना होगा नही तो जब आपका कंप्यूटेर बंद होगा तो आपका वेबसाइट भी डाउन हो जाएगा और ओपेन नही होगा । होस्त्तिंग के 4 प्रकार होती हहै shared web hosting, VPS hostinng, Dedicated Hosting, Cloud Hosting. अब हम एक एक करके इन् भी होस्टिंग कके आरे में जानेगे की कौन सा होस्टिंग किस काम आता है और कौन से होस्टिंग को हमे कब लेना चाहिए ।

Shared Hosting :- जैसा की हूस्तिंग का नाम है शेयर्ड होतिंग ठीक उसी प्रकार इस होस्टिंग का काम भी है इस होस्टिग को बह्त्व सारे लोगो के साथ शेयर किया जाता है अगर आप बेग्गिनेर है या फिर आपके वेबसाइट पर traffic अभी जादा नही अ रहा है तपो आपको शेयर होस्टिंग की लेना चाहिए इसका price बाकी होस्टिंग के मुकाबल कहोता है और बाद में अपने जरुरत के हिसाब से इसे अपग्रेड कर सकते है

VPS Hosting :- VPS hosting का मतलब होता है Virtual Private Service. Vps hosting शेयर्ड होस्टिंग से बेहतर होता है लेकिन डेडिकेटेड होस्टिंग से बेहतर नही होता है आप यह मान सकते है कि यह होस्टिंग शेयर्ड होस्टिंग और डेडिकेटेड होस्टिंग को मिलाकर बनाया गया है इसमे आपके वेबसाइट की स्पीड भी तेज रहती है और इसका प्राइस डेडिकेटेड होस्टिंग के मुकाबले कम होता है ।

Dedicated Hosting :- जैसा की डेडिकेटेड का मतलब ही होता है अलग ! उसी प्र्कार इस होस्टिंग का मतलब है अलग हूस्तिंग यानि शेयर्ड वब होस्टिंग और vpsहोस्तिन्न्ग के जैसे इस होस्टिंग को किसी औउर के साथ श्री नही किआ जाएगा यह पूरी तरह से आपका होस्टिंग होगा अगर आपके वेब्सिती पर traffic जादा आता है तो यह होस्टिंग उस बहुत हही आसानी से हैंडल कर लेगा और आपके वेब्सीए को स्लो नही हिने देगा

Cloud Hosting :- क्लाउड होस्टिंग भी बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा है क्लाउड होस्टिंग में आपका सर्वर कोई क जगह नही रहता है बल्कि कई अलग अलग जगहों पर आपका वेबसाइट होस्ट अहता है जससे की अगर एक होस्टिंग किसी कारण से काम n भी करे तबी भी आपका वेबसाइट में कोई दिक्कत नही आएगा क्युक्की और सभी होस्स्तिंग में अगर क्सिसी कारण वस होस्टिंग डाउन रहता है तो उस केस में वेबसाइट भी डाउन हो जाता है लेकिन यह दिक्कत क्लाउड होस्टिंग में देखने को नही मिलता है

Abhiraj Ranjan

I am a profeessional writer since last 2years

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *