Mgnrega news:- मनरेगा(Mgnrega) में योजना(काम) कराने की प्रक्रिया क्या है ?

Mgnrega news:- मनरेगा(Mgnrega) में योजना(काम) कराने की प्रक्रिया क्या है ?

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना(मनरेगा)

मनरेगा (महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना)  सरकार द्वारा गांव के हर पंचायत में मजदूरों के लिए चलाया गया एक योजना है। हर साल मनरेगा से प्रत्येक मजदूर को 100 दिन का काम देना होता है और इस काम का भुगतान सरकार सीधा मजदूर के बैंक खाते में करती है।

मनरेगा में एक काम को करना है तो उसके लिए बहुत सारे स्तर है।
इस आर्टिकल में हम उन सभी स्तर को विस्तृत रूप से समझेंगे।
मनरेगा के काम को करने का लिए एक पंचायत में 2 एजेंसी काम करती है

1):- ग्राम पंचायत
2):- ग्राम समिति

ग्राम पंचायत का काम पंचायत के मुखिया/ प्रधान के हांथ और ग्राम समिति का काम पंचायत के BDC और ब्लॉक प्रमुख के हांथ में होता है।

मनरेगा में 2 तरह के काम होते है।

1):- सार्वजनिक काम
2):- निजी काम

1):- सार्वजनिक काम में आप सरकारी स्थानों पे मनरेगा से काम करा सकते हैं

जैसे:- सरकारी स्कूल में मिट्टी भराई, सड़क में मिट्टी भराई, ईट की सड़क, छोटा पुलिया, सीमेंट की सड़क, नाला इत्यादि।

2):- निजी काम में आप किसी व्यक्ति के जमीन में मनरेगा लिस्ट के कामों को कर सकते है।

जैसे:- वृक्षारोपण, पशु शेड, बकरी शेड, तालाब इत्यादि।

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना( मनरेगा ) में काम करने के प्रक्रिया और उन कामों को करने वाले अधिकारी के बारे में भी हम जानेंगे।

A) योजना का नामकरण और इंट्री:- यह काम मनरेगा ऑफिस में बैठे डाटा ऑपरेटर करता है वह मनरेगा में आपके द्वारा दिया गए काम का इंट्री करता है और आपका काम मनरेगा में दिखाए देने लागत है।

B) योजना का मूल्य :- इंट्री करने के बाद यह योजना ब्लॉक के JE( JUNIOR ENGINEER ) या PTA ( PANCHYAT TECHNICAL ASSISTANCE ) के पास जाता है। अगर आपका काम समिति का हो या पंचायत के 5 लाख के उपर के काम का हो तो योजना के मूल्य का आकलन JE करता है। और यदि आपका काम पंचायत में है तो 5 लाख के नीचे का काम के मूल्य का आकलन PTA करेगा।

C) तकनीकी स्वकृति :- मूल्य का आकलन होने के बाद आपका काम अगर समिति या पंचायत के 5 लाख से ऊपर का है तो वह JE के लॉगिन आईडी पे चला जाता है JE अपके कार्य स्थल पे जा कर यह पुष्टि करता है की आपका काम योजना उस स्थल के लिए सही है या नहीं अगर सही होगा तो उसे आगे फायवर्ड कर देगा अगर आपका योजना उस स्थान का लिए सही नही है तो रिजेक्ट कर देगा। यही काम पंचायत का लिए PTA करेगा।

D) वित्तीय स्वकृति :-  तकनीकी स्वकृति के बाद आपका योजना ग्राम पंचायत से है तो ग्राम प्रधान/ मुखिया के पास जाएगा। वहा से वह आपके काम को अपने पंचायत में करने का अनुमति देगा। और अगर समिति से हुआ तो यह योजना ब्लॉक के कार्यक्रम अधिकारी (PO) के पास जाएगा।

E) GEOTAG :-  यह प्रक्रिया आपके कार्य स्थल के पंचायत के पंचायत रोजगार सेवक के द्वारा किया जाता है। इसमें उस स्थल का फोटो पंचायत रोजगार सेवक के लॉगिन आईडी से कर के उस स्थल का latitude और longitude दोनो साथ में ले कर आपके योजना के साथ जोड़ देता है। इसके बाद आपके योजना पे काम शुरू करने का आदेश हो जाता है। Geotag इस प्रक्रिया का सबसे अंतिम प्रक्रिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *