Kangana Ranaut Emergency:- कंगना की ‘इमरजेंसी’ पर कांग्रेस का विरोध, हल्ला बोल की तैयारी

भारत मे आयरन लेडी के नाम से मशहूर, भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा लगाई गई इमरजेंसी पर बनने वाली movie और फ़िल्म में इंदिरा गांधी का किरदार निभाने वाली Actress Kangana Ranaut को लेकर प्रयागराज में कांग्रेसियों ने हल्ला बोल दिया है. फिल्म को लेकर Kangana को अगले महीने प्रयागराज में इंदिरा गांधी के पैतृक आवास आनंद भवन आने की उम्मीद बताई जा रही है. लेकिन फिल्म से नाराज कांग्रेसियों ने कंगना का विरोध करने का मन बना ली है. वही बीजेपी द्वारा ऐसा मानना है कि इस फिल्म के बनने से कांग्रेसियों की दुकान बंद होने का खतरा है. 

कंगना की फिल्म पर सियासत

दरअसल बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा 46 साल पहले देश में लगाई गई इमरजेंसी पर एक फिल्म बनाने जा रही हैं. इस फ़िल्म का नाम भी इमरजेंसी रखा गया है   इस फिल्म में वह इंदिरा गांधी का किरदार निभाएंगी ही साथ ही , उसका डायरेक्शन भी खुद से ही करेंगी. इंदिरा गांधी के किरदार को अच्छे से जानने और फिल्म को बेहतरीन बनाने के लिए कंगना अगले महीने उनकी जन्मस्थली और कर्मभूमि संगम नगरी प्रयागराज ( इलाहाबाद ) आने वाली हैं

लेकिन कंगना रनौत के प्रयागराज आने से पहले ही संग्राम छिड़ गया है. उनके इस दौरे को लेकर बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने आ गए हैं. साथ ही इमरजेंसी फिल्म के बहाने इंदिरा गांधी की छवि खराब करने और 2022 में बीजेपी को चुनावी फायदा पहुंचाने का भी आरोप लगाया जा रहा है ।. 

वहीं दूसरी तरफ बीजेपी यह सवाल कर रही है कि इंदिरा के नाम पर इतराने वाली कांग्रेसी उन्हीं के द्वारा लगाई गई इमरजेंसी का जिक्र करते ही तिलमिला क्यों रही है. कांग्रेस ने कंगना को प्रयागराज में न घुसने देने का ऐलान किया है तो वहीं बीजेपी द्वारा यह ताल ठोंककर दावा किया जा रहा है कि राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित भारत देश की बेटी कंगना को योगी सरकार के कानून के राज में कोई भी प्रयागराज आने से रोक नहीं सकता है.

खुद फिल्म का निर्देशन करेंगी कंगना

करीब महीनेभर पहले जब कंगना रनौत ने फिल्म का नाम इमरजेंसी बताया और इसका डायरेक्शन भी खुद ही करने का एलान किया, तो फिल्मी दुनिया से लेकर सियासी गलियारों में कानाफूंसी शुरू हो गई थी. बाद में सोशल मीडिया प के जरिए यह बात साफ हो गई कि इमरजेंसी फिल्म इंदिरा गांधी के पूरे जीवन पर नहीं, बल्कि सिर्फ प्रधानमंत्री रहते हुए 25 जून 1975 को उनके द्वारा देश में लगाए गए आपातकाल पर आधारित होगी, उसके बाद चर्चाओं का बाजार और गर्म हो गया . कांग्रेस को सिर्फ इमरजेंसी पर फिल्म बनाए जाने को लेकर ही एतराज है. 

कांग्रेस नेता ने बताया बीजेपी की तोती

कांग्रेस नेता बाबा अभय अवस्थी के अनुसार, कंगना के ट्वीट से ये बात बिल्कुल साफ हो गई है कि वे प्रधानमंत्री मोदी के तोती के रुप में काम कर रही हैं और सियासी फायदे के लिए इस फ़िल्म को बनाया जा रहा है. इसके जरिए देश की आयरन लेडी और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की छवि को खराब करने की कोशिश किया जाएगा. उन्होंने कहा है कि अगर वाकई में फिल्म बनाई जा रही है तो उनके जीवन के सभी पहलुओं को फिल्म में शामिल करना चाहिए. कांग्रेस ने लोकतान्त्रिक तरीके से कंगना के प्रयागराज दौरे का विरोध करने की बात कही है. कांग्रेसियों ने कहा है कि कंगना रनौत को आनंद भवन और स्वराज भवन में घुसने नहीं देंगे।

भाजपा नेता का जवाब

इधर इमरजेंसी के नाम पर कांग्रेस की तिलमिलाहट देख भाजपा भी हमलावर के लिए तैयार है. चायल कौशाम्बी से भाजपा विधायक संजय गुप्ता ने भी कांग्रेस के विरोध को बेवजह बताया है. उन्होंने कहा है कि कांग्रेस कंगना का विरोध करके अपनी बौखलाहट दिखा रही है. लेकिन बीजेपी सरकार में कंगना को प्रयागराज आने से कोई नहीं रोक पायेगा. उन्होंने कहा है कि सभी नियमों का पालन करते हुए फिल्म बनेगी और सेंसर बोर्ड उसे पास करेगा उसके बाद जनता फिल्म की सफलता और असफलता को तय करेगी. कांग्रेस को इस बात का कोई अधिकार नहीं है कि वह किसी कलाकार को कहीं भी आने और जाने से रोकें सके ।

इसी बीच कंगना ने फेसबुक से लेकर इंस्टाग्राम तक इंदिरा का किरदार निभाने की तैयारियों के लिए किये जा रहे मेकअप की कुछ फ़ोटो शेयर किया है और यह दावा भी किया कि इमजरेंसी फिल्म का डायरेक्शन उनसे बेहतर कोई और नहीं कर सकता है. कंगना ने फिल्म की स्क्रिप्ट जाने माने लेखक रितेश शाह से तैयार कराई है. इमरजेंसी फिल्म को लेकर कंगना ने खुशी दिखाते हुए यह दावा किया कि अगर इस फिल्म को फाइनल करने के लिए उन्हें कुछ दूसरे प्रोजेक्ट्स छोड़ने भी पड़ेंगे तो वह उसके लिए पूरी तरह से तैयार है. कंगना 25 अगस्त के आस पास दो दिनों के लिए प्रयागराज जाने का कार्यक्रम बना रही है. कंगना के इस दौरे को लेकर भले ही सियासत में तिलमिलाहट हो, लेकिन राजनीति के जानकार इमरजेंसी पर फिल्म बनाये जाने का समर्थन कर रहे हैं. उनके अनुसार कंगना देश के सामने सच्चाई लाने की कोशिश कर रही हैं. इसलिए उनका विरोध करना ठीक नही है.

प्रयागराज में ही बीता था इंदिरा का बचप

इंदिरा गांधी के किरदार और इमरजेंसी को बेहतर तरीके से समझने के लिए कंगना रनौत संगम नगरी प्रयागराज जाने की तैयारी में लगी हुई हैं. वही प्रयागराज जहां इंदिरा गांधी का जन्म हुआ, वही पर वह पली-बढ़ीं, और वही पर उन्होंने सियासत की ABCD सीखी, और वानर सेना बनाकर अंग्रेजों के खिलाफ बगावत करना शुरू किया, वही पर उनका शादी हुआ और उसके बाद वही पर अपने पिता के चुनाव की कमान संभाली थी. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *